Large Image Sidebar Left

Check out our Latest News!

डिस्लेक्सिया में परवरिश के तरीके और एक सफल परवरिश की कहानी

नमस्कार आज एक बार फिर हम आप लोगों के साथ अपने विचार साझा करने आए हैं अपने पिछले लेख में आप लोगों से डिस्लेक्सिया के बारे में बात की थी। आज हम ये कहना चाहते है की जिन बच्चों को डिस्लेक्सिया हैं उन्हें बिल्कुल उदास होने की जरुरत नहीं हैं वे बस अपनी परवरिश...

जज़्बा – आत्मविश्वास,हिम्मत और स्त्रीत्व की.. भाग – २

आइये अब मिलते हैं मेरी दूसरी सच्ची कहानी और उसकी नायिका से जिनकी हिम्मत के आगे पर्वत की उंचाई भी कम पड़ गयी। अरुणिमा सिन्हा- अरूणिमा सिन्हा भारत से राष्ट्रीय स्तर की पूर्व वालीबाल खिलाड़ी तथा एवरेस्ट शिखर पर चढ़ने वाली पहली भारतीय दिव्यांग हैं जिन्होंने ये साबित कर दिया कि शरीर की...

जज़्बा – आत्मविश्वास,हिम्मत और स्त्रीत्व की.. भाग – १

नमस्कार मैं नूपुर एक बार फिर आप लोगों के साथ अपने विचार साझा करने आयी हूँ। आज विश्व दिव्यांग दिवस के मौके पर मैं आप लोगों के लिए एक विशेष लेख लेकर आयी हूँ। इस लेख में ४ ऐसी स्त्रियों की कहानियां है जिन्होंने अपने आत्मविश्वास,हिम्मत और स्त्रीत्व से लोगो के अंदर एक नए...

डिस्लेक्सिया – कोई बीमारी नहीं , एक अवस्था है।।। इसे समझे और जाने …

नमस्कार, अपने पिछले लेख में हमने आप लोगों से ऑटिस्टिक बच्चों की परवरिश के विषय में बात की थी आज हम डिस्लेक्सिया के विषय में बात करेंगे अपना लेख शुरू करने से पहले सभी लोगों से एक बात कहना चाहेंगे कि अगर आपके आसपास किसी बच्चे को डिस्लेक्सिया हैं तो उस बच्चे की...

WHO ARE YOU ?

During one of his travels, Kalidasa felt very thirsty and looked around for water. He saw a woman drawing water from a well. He went up to her and asked her for water. She agreed to give him water, but asked him, “Who are you? Introduce yourself.” Now Kalidasa thought that an ordinary village woman was...

Font Resize